टर्म इन्शुरन्स क्या होता है और इसे क्यों लेना चाहिए? | Term Insurance Meaning in Hindi

नमस्कार दोस्तों, में आशा करता हूँ आप सभी लोग अच्छे और सुरक्षित हैं. आज आप इस आर्टिकल में पड़ेंगे टर्म इन्शुरन्स क्या है और इसके फायदे और नुकसान के बारे में. दुनिया में बोहोत तरह के इन्शुरन्स उपलब्ध है. जिनमे से एक है टर्म इन्शुरन्स. हर ब्यक्ति को आपने जीवन में टर्म इन्शुरन्स लेना चाहिए. क्योंकि इसका काफी फ़ायदा रहता है. आज आप इस आर्टिकल के मदत से उसीके बारे में जान पाएंगे.

टर्म इन्शुरन्स दुनिया के बोहोत पॉपुलर पॉलिसी में से एक है. आपने आपके जिंदगी में कभी न कभी टर्म इन्शुरन्स के बारे में सुना ही होगा. टर्म इन्शुरन्स आपके और आपके परिवार के लिए काफी महत्वपूर्ण है. खासकर उन लोगो के लिए जो आपने परिवार में अकेला कमाने वाला है.

मानके चलिए अगर आपको कुछ हो गया तो आपके परिवार का क्या होगा? आपके बच्चो का ख्याल कौन रखेगा? उनके शिक्षा का ज़िम्मेदारी कौन लेगा या फिर आपके पिता माता के सेहत का ज़िम्मेदारी कौन लेगा? ऐसे में टर्म इन्शुरन्स काफी बारे योगदान देता है.

हां ये बात सही है, आपको अगर कुछ हो गया तो आपके परिवार को नुकसान तो बोहोत होगा जो कोई पूरा नहीं कर पायेगा. मगर आर्थिक रूप से आपके परिवार को थोड़ा सहयता तो कर पायेगा टर्म इन्शुरन्स. आप ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन कुछ ही समय के अन्दर एक टर्म इन्शुरन्स ले सकते हो. ताकि अगर आपको कुछ हो जाये तो आर्थिक रूप से आपके परिवार के साथ आप हैमिषा रहे जाओ.

ये भी पढ़िए: स्माल बिज़नेस आईडिया

टर्म इन्शुरन्स क्या है

ये एक इन्शुरन्स है. जो बाकि दूसरे इन्शुरन्स से काफी अलग है. टर्म इन्शुरन्स खास कर उन लोगो के लिए अच्छा है जो उसके घर में कमाने वाला अकेला इंसान है और उसके ऊपर बोहोत सरे लोगो जैसे उसके बच्चे, माता पिता, पत्नी या फिर पति का ज़िम्मेदारी है. टर्म इन्शुरन्स के तहत अगर आपको पॉलीसी के दौरान कुछ हो जाये तो आपके परिवार वालो या फिर नॉमिनी को धन राशि प्रदान किया जायेगा. मगर पॉलीसी चलने के दौरान अगर आपको कुछ नहीं हुआ तो आपको या फिर आपके परिवार वालो को कुछ भी नहीं मिलेगा.

term insurance kya hota hain

मानके चलिए एक इंसान A जिसने एक 1 करोड़ का टर्म इन्शुरन्स लिया है. A घर में अकेला कमाने वाला है और इसके परिवार में दो बच्चे और पत्नी है. A ने एक टर्म इन्शुरन्स लिया है जो 60 साल के लिए है. इस पालिसी के लिए A ने उनके पत्नी को नॉमिनी बनाया है. अगर इस दौरान A को कुछ हो जाये मतलब अगर A मर जाये तो 1 करोड़ उनके परिवार या फिर नॉमिनी को प्रदान किया जायेगा.

टर्म इन्शुरन्स क्यों जरुरी होता हैं

मेरे ख्याल से टर्म इन्शुरन्स सभीको लेना चाहिए. इसका काफी फ़ायदा हैं. अगर किसी एक ब्यक्ति जिसने एक टर्म इन्शुरन्स लेके रखा है उसे पालिसी के दौरान कुछ हो जाये तो उसके परिवार को पैसा प्रदान किया जायेगा. जिससे परिवार वालोको पैसो की दिक्कत नहीं आएगी, बच्चो के पढ़ाई या फिर खाने पीने का कोई चिंता नहीं रहेगा. आप इस दुनिआ में न रहकर भी आपने परिवार के साथ रहे पाओगे.

इस प्रकार के पालिसी का एक और फ़ायदा ये है, अगर आपने कभी लोन लिया रहेगा और उसको पूरी तरीके से चुकाने से पहले ही आपको कुछ हो जाये तो आपके परिवार उसको मिटा सकता हैं. आम तौर पर कोई भी इंसान जिसका उम्र 18 साल या उससे ज्यादा हैं वह एक टर्म इन्शुरन्स ले सकता हैं.

आज कल टर्म इन्शुरन्स लेना कोई बड़ी बात नहीं है. आप ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन आसानी से एक टर्म इन्शुरन्स ले सकते हो. आप कितने उम्र में ले रहे हो और आपके प्रीमियम के ऊपर निर्वर रहेगा आपको कितना कवरेज मिलेगा. मेरे ख्याल से ऑनलाइन पालिसी लेना काफी सही है क्योंकि इसमें कोई एजेंट का सहारा लेना नहीं पड़ता जिसके चलते आपको बोहोत डिस्काउंट भी मिल सकता हैं.

ये भी पढ़िए: महिला के लिए बिज़नेस आईडिया

Benefits Of Term Insurance

हर एक चीस का कुछ फ़ायदा और कुछ नुकसान होता है, टर्म इन्शुरन्स का भी बोहोत सारा फ़ायदा और नुक्सान है. चैले जानते है उसके बारे में.

कम लागत प्रीमियम: Term Insurance के तहत आपको काफी काम प्रीमियम देके बोहोत बड़े अमाउंट का कवर मिल सकता हैं. जितने काम उम्र में आप टर्म प्लान लेंगे उतना कम प्रीमियम आपको देना पड़ेगा.

TAX Benefit: टर्म इंश्योरेंस प्लान के लिए जो भी प्रीमियम आप देंगे और मृत्यु पर प्राप्त धन Income Tax Act, 1961 की धारा 80C और धारा 10(10D) के तहत कर छूट के लिए पात्र हैं.

जीवन का सुरक्षा: कुछ कुछ टर्म प्लान ऐसा हैं जिसमे आपको पुरे 100 साल के लिए कवरेज मिलता हैं. इस प्रकार के प्लान ‘Whole Life Term Insurance Plan’ के नाम से जाना जाता हैं.

वित्तीय सुरक्षा: आपके परिवार को टर्म प्लान के तहत एक साथ मोटा पैसा मिलेगा. या फिर ऐसा भी हो सकता हैं एक बड़े रकम क़िस्त में दिया जायेगा. जिसके चलते आपके परिवार को पैसो को लेकर दिक्कत नहीं होगा.

सरकारी टर्म इन्शुरन्स प्लान

भारत सरकार का काफी सारा योजना है जिससे आम आदमी को काफी सुबिधा मिलता हैं. बैंक द्वारा भी काफी सरे टर्म इन्शुरन्स का फ़ायदा आप ले पाएंगे जो भारत सर्कार द्वारा लांच किया गया है. इन प्लान को सरकार द्वारा प्रायोजित सामाजिक सुरक्षा योजनाओं नाम से भी जाना जाता हैं.

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY)

ये एक ऐसा प्लान है जिससे पॉलिसी धारक के कुछ हो जाने पर उनके परिवार को 2 लाख रुपये दिया जायेगा. इसके लिए आपको प्रति साल ₹330 रुपये करके देना पड़ेगा. कोई भी भारतीयों ग्राहक जिसका उम्र 18 साल से लेके 50 साल के बीच है वह ये पालिसी ले सकता हैं.

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY)

ये एक ऐसे प्रकार का टर्म इन्शुरन्स है जिससे पालिसी धारक को 1 लाख आकस्मिक मृत्यु और पूर्ण विकलांगता के लिए 2 लाख रुपये उनके परिवार वालो को दिया जायेगा. इस पालिसी को लेने के लिए आपको प्रति साल ₹18 करके देना पड़ेगा. कोई भी भारतीयों नागरिक जिसका उम्र 18 साल से लेके 70 साल के बीच है, वह इस पालिसी का लाभ ले सकते हैं.

आम आदमी बीमा योजना (AABY)

ये एक ऐसा इन्शुरन्स है जिससे पालिसी धारक के प्राकृतिक कारणों, दुर्घटना, आंशिक विकलांगता या स्थायी पूर्ण विकलांगता के कारण होने वाली मृत्यु पर कवर प्रदान करती हैं.

प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY)

ये कोई पालिसी नहीं हैं. ये एक प्रकार का बैंक अकाउंट हैं. जिसको प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने चालू किया था. जिस भी ब्यक्ति का जान धन अकाउंट है उसके कुछ हो जाने पर 30 हजार मृत्यु पर और दुर्घटना पर 1 लाख रुपये प्रदान किया जायेगा.

टर्म इन्शुरन्स लेने से पहले जो देखना चाहिए

अगर आप एक टर्म इन्शुरन्स लेना चाहते हो तो आपको कुछ चीस का ध्यान रखना चाहिए. अगर आप ये सब को न देखके, अच्छे से न जानके किसी भी प्रकार के पालिसी लेने जायेंगे तो बादमे आपको या फिर आपके परिवार वालो को दिक्कत आ सकती हैं. तो चलिए जान लेते हैं ऐसे कुछ चीस के बारे में.

कवरेज की राशि

किसी भी प्रकार के टर्म इन्शुरन्स लेने से पहले आपको सबसे पहले देखना होगा उसके लिए कितना कवरेज मिलेगा. हैमिषा खुदके आर्थिक परिस्थिति को ख्याल रखते हुए ऐसे प्लान लेना चाहिए जो आपके वार्षिक इनकम के 20 से 30 गुना हो. जिससे आपके परिवार को कभी आर्थिक दिक्कति न आये और वह लोग अच्छे से जी पाए.

समय सीमा

एक टर्म प्लान लेने से पहले आपको समय सीमा देखना भी जरुरी हैं. जितना जल्दी आप टर्म प्लान लेंगे आपको उतना काम प्रीमियम देना पड़ेगा. अगर आप बोहोत काम समय के लिए या फिर बोहोत देर से टर्म प्लान लेने जायेंगे तो आपको एक साथ बोहोत ज्यादा प्रीमियम देना पर सकता हैं.

नॉमिनी

आपको काफी ध्यान से नॉमिनी फॉर्म भरना भी जरुरी हैं. अगर आप सही से नॉमिनी फॉर्म नहीं डालेंगे तो हो सकता हैं बाद में आपके परिवार या फिर नॉमिनी को कवरेज मिलने में काफी पदिशानि आ सकती हैं.

ये भी पढ़िए: ऑनलाइन 1000 रुपये कैसे कमाए

टर्म इंश्योरेंस प्रीमियम ज्यादा होने का कुछ कारन

बोहोत समय ऐसा लगता हैं की क्या ऐसा कारन है जिसके चलते हमारे लिए हुए टर्म प्लान का प्रीमियम इतना ज्यादा हैं. इसका कारन बोहत सारा हैं. तो चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ कारन जिसके चलते आपको देना पद सकता हैं ज्यादा प्रीमियम.

आपकी उम्र

ज्यादातर इन्सुरेर बोलते है की हमें हैमिषा काम उम्र में ही टर्म प्लान ले लेना चाहिए. ताकि प्रीमियम काफी कम हो. अगर आप 30 साल या 40 साल के उम्र में कोई टर्म प्लान लेने जायेंगे तो आपको काफी ज्यादा प्रीमियम देना पड़ सकता हैं. और उस दौरान आप घर खर्चा करके इतना प्रीमियम देकर सायद ही टर्म प्लान लेने जायेंगे. इसीलिए बेहतर है कम उम्र में एक टर्म प्लान ले लेना.

Gender

ज्यादातर देखा जाता है महिला के मुक़ाबले पुरुष ऐसे काम करते हैं जो ज्यादा जोखिम वाले होते हैं. इसीलिए पुरुष को प्रीमियम भी ज्यादा देना पड़ सकता हैं. तो वही महिला काफी काम प्रीमियम देकर एक टर्म प्लान ले सकता हैं.

Health

अगर आपका वजन बोहोत ज्यादा हैं और अगर आप अच्छा स्वस्थ जीवन नहीं जीते हो तो ये माना जाता है आगे चलके आपको काफी पड़ेशानी आ सकते हैं. ऐसे में आपको ज्यादा प्रीमियम देना पड़ सकता हैं.

मादक द्रव्यों का सेवन

जो लोग धूम्रपान या मादक सामग्री का सेवन करता हैं उन्हें काफी ज्यादा प्रीमियम देना पड़ता हैं. क्योंकि इन्सुरेर को लगता हैं ऐसे लोग का ज्यादा जोखिम रहता हैं. जिसके कारन उन्हें काफी ज्यादा प्रीमियम देना पड़ता हैं.

पारिवारिक इतिहास

जिस किसीके घर में काफी ज्यादा बीमार लोग हैं और जिनके परिवार के लोग पहले किसी एक प्रकार के रोग के के कारण मृत हुआ है तो उन्हें ज्यादा प्रीमियम देना पड़ सकता हैं. क्योंकि इन्सुरेर को लगता हैं आपके परिवार के जैसा आपको भी इसी प्रकार का रोग हो सकता हैं जिसके कारण प्रीमियम ज्यादा होगा.

आपके काम करने का तरीका

इन्सुरेर हैमिषा उन लोगो से ज्यादा प्रीमियम लेते हैं जो किसी रिस्की कंपनी में काम करते हैं. अगर आप भी किसी कोयला कंपनी, रासायनिक कारखाना ऐसे जगह पर काम करते हो तो आपको ज्यादा प्रीमियम देना पड़ेगा. तो वही जो लोग किसी साधारण काम जैसे ऑफिस में बैठके करने वाला काम करते हैं उन्हें काफी कम प्रीमियम देना होगा.

ये भी पढ़िए: NFT क्या हैं

टर्म इन्शुरन्स कैसे क्लेम करे

टर्म प्लान लेना तो बोहोत आसान हैं. लेकिन मुश्किल तब होता हैं जब आप इसको क्लेम करने जाते हैं. जितना जल्दी आप करेंगे उतना ही मुश्किल आपको होगा. इसीलिए नॉमिनी को जल्द से जल्द इन्सुरेर को बताना पड़ेगा. आप फ़ोन, ईमेल या फिर उनके ब्रांच में जाकर बता सकते हैं इसके बारे में और नॉमिनी का फॉर्म फिलुप करना पड़ेगा. आपके नॉमिनी फॉर्म डालने के बाद इन्सुरेर अच्छे से फॉर्म को छान – बीन करेंगे. क्लेम हो जाने के बाद धन राशि नॉमिनी के बैंक पर ट्रांसफर कर दिया जायेगा.

पालिसी क्लेम करने के लिए आपको कुछ फॉर्म डालने जा जरुरत पड़ेगा जैसे पालिसी डॉक्यूमेंट, नॉमिनी फॉर्म, डेथ सर्टिफिकेट, मेडिकल रिपोर्ट, क्लेम स्टेटमेंट, KYC फॉर्म इत्यादि. इसके अलाव अगर किसीका अस्वाभाविक मृत्यु हुआ हैं तो उन्हें कुछ अलग प्रकार का डॉक्यूमेंट जैसे FIR, पोस्ट मोर्टेम रिपोर्ट, विटनेस रिपोर्ट, KYC फॉर्म इत्यादि डालना पड़ेगा.

कुछ केस में टर्म इन्शुरन्स क्लेम नहीं किया जा सकता जैसे सुसाइड, खुद को लगी चोट, कोई भी पहले से मौजूद बीमारी या स्वास्थ्य की स्थिति, एचआईवी / एड्स / एसटीडी / यौन रोग, मानसिक/मनोवैज्ञानिक असंतुलन/असामान्यता/विकार के कारण मृत्यु, आपराधिक और अपराधी व्यवहार, मादक द्रव्यों के सेवन और नारकोटिक्स, गर्भावस्था और प्रसव, रक्षा गतिविधियों में भागीदारी, कॉस्मेटिक सर्जरी और दंत चिकित्सा उपचार, जन्मजात दोष और आनुवंशिक रोग इत्यादि.

FAQs: Term Insurance Kya Hain

1. टर्म इंश्योरेंस कैलकुलेटर क्या है?

ये एक प्रकार का टूल हैं जो आपको सहायता करेगा आपको कितना प्रीमियम देना पड़ेगा एक टर्म प्लान लेने के लिए. इसके लिए आपको कुछ डिटेल्स जैसे आपका उम्र, पेशा, शारीरिक स्थिति, मोबाइल नंबर डालना पड़ेगा. उसके बाद जितना अमाउंट का कवर और जितने साल के लिए आप टर्म प्लान लेंगे उसके हिसाब से टर्म इन्शुरन्स कैलकुलेटर आपको प्रीमियम दिखायेगा.

2. क्या मैं पॉलिसी जारी होने के बाद लाइफ़ कवर की अवधि बदल सकता हूँ?

जी नहीं. आप पॉलिसी जारी होने के बाद लाइफ़ कवर की अवधि बदल नहीं सकता हो.

3. क्या पॉलिसी की अवधि के दौरान प्रीमियम राशि बदल जायेगा?

जी नहीं. एक बार टर्म पालिसी सुरु हो जाने के बाद आपका प्रीमियम बदल नहीं जायेगा.

4. टर्म इन्शुरन्स क्या होता हैं?

ये एक प्रकार का पालिसी हैं जो हमारे कुछ हो जाने के बाद नॉमिनी को आर्थिक सहायता प्रदान करता हैं. इसके लिए हमें हर महीने प्रीमियम देना पड़ता हैं. अगर टर्म इन्शुरन्स चलने के दौरान हम जिन्दा रहे तो हमारे दिए हुए प्रीमियम हमें वापस नहीं मिलेगा.

Arpan Banerjee

Arpan Banerjee इस ब्लॉग का एक लेखक है. अर्पन का पेशा है ब्लॉग लिखना और वीडियो बनाना. अर्पण को शेयर मार्केट, क्रिप्टोकोर्रेंसी और इन्वेस्टमेंट के ऊपर जानकारी लेना और उसके बारे में लोगोको बताना काफी अच्छा लगता है. आप इस ब्लॉग पर एफिलिएट मार्केटिंग, शेयर मार्केट और क्रिप्टोकोर्रेंसी के ऊपर हिंदी में आर्टिकल पड़ पाएंगे.

Leave a Comment

close