NFT Full Form in Hindi | एनएफटी क्या है और कैसे काम करता है

दोस्तों क्या आप जानना चाहते हो NFT Full Form, एनएफटी क्या है और कैसे काम करता है? अगर इसका जबाब है हां तो आप सही जगह आये हो. क्योंकि आज इस आर्टिकल में आपको बताएँगे एनएफटी के बारे में सब कुछ आसान भासा में. मुझे उम्मीद है आपको एनएफटी के बारे में काफी कुछ ज्ञान मिलेगा.

आजकल NFT को लेकर हर कोई चर्चा करता है. ये एक ऐसा चीस है जो क्रिप्टोकोर्रेंसी से भी ज्यादा सर्च किया जाता है पुरे दुनिया में. NFT तो बोहोत पहले से ही उपलब्ध है. मगर पिछले कुछ समय से इसका चर्चा बोहोत ज्यादा होने लगा है. बोहोत सरे भारतीयों सेलिब्रिटी भी इसमें दिलजस्पी दिखा रहा है. हाली में सुना गया की महान अभिनेता अमिताभ बच्चन ने भी अपना खुद का NFT लांच किया.

NFT एक ऐसा चीस है जिसमे काफी बड़े बड़े अरबपति ने काफी पैसा निवेश किये है. इसको आप इंटरनेट पर देख सकते हो मगर इसे छू नहीं सकते है. ये एक प्रकार के डिजिटल एसेट है. NFT का पूरा नाम है Non Fungible Token (नॉन फंजिबल टोकन). आप सायद सोच रहे होंगे NFT क्या है, इसका पूरा नाम और ये कैसे काम करता है ये जानके आपको क्या फ़ायदा मिलेगा, सायद एनएफटी आपके काम का नहीं है. लेकिन आपको बता दे डिजिटल युग में हर चीस के बारे में अपडेट रखना काफी जरूरी है.

NFT एक अच्छे कमाई और इन्वेस्टमेंट का जरीया है. काफी सारे अभिनेता जैसे अमिताभ बच्चन, सलमान खान खुदके NFT लांच करने का सोच रहे है. इसके जरीये कलाकार एक डिजिटल टोकन बनाके पैसा कमा सकते है. NFT के जरीये आप किसी पेंटिंग, फिल्म, म्यूजिक इत्यादि का डिजिटल मालिक बन सकते हो. इसमें एक यूनिक नंबर होता है जिससे पता चलता है प्रोडक्ट का असली मालिक कौन है.

ये भी पढ़िए: क्या Penny Stocks में निवेश करना चाहिए

NFT Full Form in Hindi

दुनिया बोहोत तेज़ी से डिजिटल हो रहा है. आज कल हर काम ऑनलाइन किया जा सकता है. ऑनलाइन पैसा इन्वेस्ट करने का भी काफी सारे तरीके उपलब्ध है जैसे शेयर मार्केट, क्रिप्टोकोर्रेंसी, गोल्ड इत्यादि. अभी एक और नया इन्वेस्टमेंट का जरीया आया है और ये है NFT. ये एक ऐसा चीस है जिससे आप किसी ब्यक्ति का पेंटिंग, म्यूजिक, वीडियो या किसी और प्रकार का डिजिटल संपत्ति का मालिक बन सकते हो.

हाली में देखा गया Twitter के पहला ट्वीट बोहोत ज्यादा पैसा में एनएफटी के जरिया बिका. ऐसे ही अमिताभ बच्चन और काफी सरे और ब्यक्ति ने भी आपने एनएफटी लांच किया. NFT Full Form है Non Fungible Token और NFT Full Form in Hindi है नॉन फंजिबल टोकन.

NFTFull-Form
EnglishNon Fungible Token
Hindiनॉन फंजिबल टोकन

NFT क्या है

दुनिया बोहोत तेज़ी से भाग रहा है. हर कोई चाहता है डिजिटल माध्यम से पैसा कमाना. काफी सारे ऑनलाइन इन्वेस्टमेंट करने का तरीका है जिसमे NFT एक अनोखा और नया निवेश करने का बिकल्प है. NFT किसी चीस का एक नॉन-फंजिबल टोकन जिसका मालिकाना किसी एक ब्यक्ति के पास ही होता है.

बिटकॉइन या क्रिप्टोकोर्रेंसी के जैसा इससे आप लेनदेन नहीं कर पाएंगे मगर NFT के जरीये आप निवेश कर सकते है और समय आने पर बेच भी सकते है. कुछ कुछ देश में क्रिप्टोकोर्रेंसी के जरीये लेन देन किया जाता है मगर NFT के जरिए आप लेन देन नहीं कर पाएंगे.

ये ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी के तहत बनाया गया है जिससे एक यूनिक नंबर रहेगा. इससे पता चलता है किसी एक चीस का असली मालिक कौन है. आज कल ज्यादातर निवेशक ऑनलाइन निवेश करना पसनद करते है. कुछ दिन पहले भारत के महान अभिनेता अमिताभ बच्चन के NFT के बारे में बोहोत सुन्ने को मिला. और साथ में एक 10 सेकंड का वीडियो क्लिप भी करीब 48.44 करोड़ रूपए में बेचो गया.

Twitter के CEO का पहला Tweet भी NFT में अच्छे प्राइस में बिका. क्या आप इसे यकीन कर सकते हो? मुझे पता है आपको सुनके झटका लगा होगा मगर ये सच है. जिस ब्यक्ति के पास किसी चीस का NFT है उसके पास एक यूनिक नंबर रहेगा. जिससे पता चलता है दुनिया में उस प्रोडक्ट का मालिक सिर्फ वह ब्यक्ति ही है. आसान भासा में समझे तो किसी डिजिटल आर्ट वर्क को टेक्नोलॉजी के मदत से स्थापित किया जाये तो उसे NFT यानि की नॉन फंजिबल टोकन (Non Fungible Token) कहा जाता है.

ये भी पढ़िए: स्माल बिज़नेस आइडिया हिंदी

कैसे काम करता है NFT?

डिजिटल एसेट जो एक दूसरे से अलग होता है उसके लिए होता है NFT का इस्तेमाल. इसके मदत से आप आर्ट वर्क, वीडियो क्लिप्स, म्यूजिक, या फिर किसी बिसेष ब्यक्ति का बिसेष संपत्ति का मालिकाना पा सकते है. आप NFT के मदत से सामान खरीद या फिर बेच नहीं सकते. मगर NFT को डिजिटल मार्केटप्लेस से ख़रीदा या बेचा जा सकता है. इसीलिए NFT को कहा जाता है नॉन फंजिबल टोकन.

खुदका NFT कैसे बनाये?

अगर आप खुदका एनएफटी तैयार करना चाहते हो तो आपको सबसे पहले एक ऑनलाइन वॉलेट बनाना पड़ेगा. जिसमे आप NFT को होल्ड करके रख सकते हो. जिस वॉलेट में आप NFT को होल्ड करके रखेंगे उसे एक ‘प्राइवेट की’ की मदत से एक्सेस किया जायेगा. आपके क्रिप्टो वॉलेट के ‘प्राइवेट की’ एक सुपर-सिक्योर पासवर्ड की तरह काम करता है जिसके बिना आप NFT को एक्सेस नहीं कर पाएंगे.

ये भी पढ़िए: डिलीवरी ट्रेडिंग क्या है

अमिताभ बच्चन के एनएफटी कलेक्शन

हाली में एक इंटरव्यू के दौरान महँ अभिनेता अमिताभ बच्चन ने कहा मेटावर्स और डिजिटाइजेशन की दुनिया में NFT के जरिये फंस से मिलने का एक नया रास्ता खोल दिया है. अमिताभ बच्चन के खुदके NFT का जब बोली लगी तब पहले दिन ही 5,20,000 डॉलर (करीब 3.88 करोड़ रुपये) की कमाई हुयी. जो की भारत में अभी तक के सबसे ज्यादा एनएफटी कलेक्शन कहा जा रहा है. इस बोली में बच्चन जी के ३ लाख फंस हिस्सा लिए थे.

पहले दिन अमिताभ बच्चन के ‘मधुशाला’ कलेक्शन के लिए सबसे ज्यादा बोली लगी और वह थी 4,20,000 डॉलर की. इनमे उनके आवाज़ में उनके पिताजी के कबिता संग्रह शामिल है. और इसके साथ उनके कुछ फिल्म पोस्टर जिसमे बच्चन सर का ऑटोग्राफ था वह 1,00,000 डॉलर की बोली लगाइ गयी.

ये भी पढ़िए: इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है

क्या होता है Non Fungible Token?

NFT का फुल फॉर्म है Non Fungible Token. इसमें Fungible का मतलब होता है जिससे आप लेन देन कर सको. जैसे अगर आपके पास एक ₹500 का नोट है तो आप उससे कुछ खरीद सकते हो. मगर एनएफटी यानिकि नॉन फंजिबल टोकन, जिससे आप लेन देन नहीं कर पाएंगे. किसी भी बड़े कलाकार का पेंटिंग, ऑडियो, वीडियो, आर्ट, सिग्नेचर, पोस्टर इत्यादि आप NFT के जरिए खरीद सकते हो. एनएफटी के मदत से लेन देन नहीं किया जा सकता है, जिसके कारन ये बिटकॉइन जैसे डिजिटल करेंसी से भी अलग है. NFT (एनएफटी) ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी के तहत बनाया गया है.

कोई ऐसी चीस जिसका कॉपी नहीं हो सकता है उसको एनएफटी के जरिए बेचा जा सकता है. इससे ख़रीदा और बेचा जा सकता है मगर लेन देन नहीं हो सकता. मन लीजिए आपके पास ₹100 के 5 नोट है और किसी और के पास एक ₹500 का नोट है, अगर आप उसे एक्सचेंज करेंगे तो उसमे कोई फरक नहीं पड़ेगा. इसे कहते है फंजिबल. एनएफटी में जिस भी चीस को आप खरीदेंगे उसका एक यूनिक नंबर आपके पास रहेगा और पासवर्ड के जरिए आप उसको देख पाएंगे. किसीभी NFT का दुनिया में सिर्फ एक ही ओनर रहेगा.

NFT का खास बात ये है की अगर आपने एक एनएफटी बनाये है तो उसके लिए आपको तब तक पैसा मिलता जायेगा जबतक वह चीस बेचीं जाएगी. ये डिजिटल दुनिया की नयी बोली है.

सलमान खान समेत अन्य सेलिब्रिटी का एनएफटी

बॉलीवुड के सुपरस्टार सलमान खान ने भी Instagram के जरीये फंस को कहा की वह भी एनएफटी लांच करने जा रही रही. BollyCoin के साथ मिलके अपना एनएफटी कलेक्शन निकालेंगे सलमान खान. यहाँ पर अतुल अग्निहोत्री समेत अन्य लोग शामिल है. अतुल अग्निहोत्री सलमान की बेहेन अलवीरा के पति है. हाली में अमिताभ बच्चन ने भी अपना एनएफटी लांच किया जो काफी ज्यादा कीमत में बिका था.

अगर आप क्रिकेट के फैन हो तो आपको पता है की निढाहस ट्रॉफी के फाइनल मैच में दिनेश कार्तिक लास्ट बॉल पर 6 मार्के मैच जिताया था. हाली में सुना गया है की दिनेश कार्तिक भी उस मैच का एक आर्ट रील का डिजिटल ऑक्शन कर रहे है. इसकी बेस कीमत 5 ethereums (करीब 15 लाख रूपए) रखा गया है.

यह भी पढ़ें: शेयर बाजार में निवेश कैसे करें

FAQs: एनएफटी से जुड़ी सवाल जबाब

1. एनएफटी का मतलब क्या है?

एनएफटी का मतलब होता है नॉन फंजिबल टोकन. इसके जरिये आप किसी पेंटिंग, वीडियो क्लिप, ऑडियो, पोस्टर इत्यादि का डिजिटल कॉपी का मालिकाना पा सकते हो. NFT के जरिये पता चलेगा किसी एक चीस का असली मालिक कौन है. एनएफटी ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी के तहत बनाया गया है.

2. एनएफटी का पूरा नाम क्या है?

NFT फुल फॉर्म है नॉन फंजिबल टोकन (Non Fungible Token).

3. NFT कैसे ख़रीदे?

अगर आप NFT खरीदना चाहते हो तो सबसे पहले आपको किसी ऑनलाइन प्लेटफार्म जहा से NFT टोकन ख़रीदा जा ता है वह पर SignUp करना पड़ेगा. फिर आप क्रिप्टोकोर्रेंसी के जरिए NFT टोकन खरीद पाएंगे.

4. क्या एनएफटी और क्रिप्टोकोर्रेंसी एक जैसा है?

नहीं एनएफटी और क्रिप्टोकोर्रेंसी दोनों अलग प्रकार का है. NFT एक डिजिटल एसेट है तो वही दूसरी तरह क्रिप्टोकोर्रेंसी एक डिजिटल करेंसी है.

Arpan Banerjee

Arpan Banerjee इस ब्लॉग का एक लेखक है. अर्पन का पेशा है ब्लॉग लिखना और वीडियो बनाना. अर्पण को शेयर मार्केट, क्रिप्टोकोर्रेंसी और इन्वेस्टमेंट के ऊपर जानकारी लेना और उसके बारे में लोगोको बताना काफी अच्छा लगता है. आप इस ब्लॉग पर एफिलिएट मार्केटिंग, शेयर मार्केट और क्रिप्टोकोर्रेंसी के ऊपर हिंदी में आर्टिकल पड़ पाएंगे.

Leave a Comment

close